राहु-केतु पीयारची पलंगल
(2020 - 2022)


भाषा बदलो   

राहु- केतु पियारची या गोचर या गोचर 25 सितंबर 2020 को शाम 5:04 बजे आईएसटी पर होता है। राहु मिथुन राशी या मिथुन चन्द्र राशि से ऋषभ राशी या वृष चन्द्र राशि पर गोचर कर रहा होगा, जबकि केतु धनु राशी से या धनु चन्द्रमा से वृश्चिक राशी या वृश्चिक चन्द्र राशि से गोचर कर रहा होगा.

वे 14 अप्रैल, 2022, 8:01 PM IST पर अपने नए पदों पर रहेंगे.

2020 के लिए राहु केतु पियारची

यहाँ रासो पर राहु केतु पियारची का प्रभाव संक्षेप में है:

मेशा - चुप रहो

ऋषभ- सफलता

मिथुना - कुल मिलाकर अच्छाई

कटका- प्रचार

सिम्हा- पेशेवर उत्थान

कन्या - शानदार अवधि

तुला- कोई भी वादा न करें

वृश्चिका- नए उपक्रमों में निवेश न करें

धनुष - अचानक भाग्य

मकर - कंजुगल गुहा

कुंभ - रिश्तेदारों की परेशानी का हल

मीना- विपरीत लिंग से सावधान रहें

12 राशियों के लिए राहु-केतु पियारची पलंगल (2020 - 2022)

मेशम - माशा - मेष
ऋषभम् - ऋषभ - वृषभ
मिधुनम - मिथुन - मिथुन
कड़कम - कर्क - कर्क
सिम्हा - सिंह - सिंह
कन्नी - कन्या - कन्या
थुलम - तुला - तुला
वृचिगम् - वृश्चिका - वृश्चिक
धनुसु - धनु - धनु
मकरम - मकर - मकर
कुंभ - कुंभ - कुंभ
मीनम - मीन - मीन

TOP